Taj Mahal History in Hindi

Taj Mahal History in Hindi

ताज महल क्या है:  ताजमहल’ मुगल वास्तुकला का बेहतरीन और सबसे अधिक परिष्कृत उदाहरण का प्रतिनिधित्व करता है। इसे शानदार सफ़ेद संगेमर्मर मकबरे को 1631 में मुग़ल शासक शाह जहान ने अपनी पत्नी मुमताज़ महल की याद में बनवाना शुरू किया था सन 1653 को यह पूरी तरह से बनकर यमुना के किनारे पर खड़ा हो गया था | मकबरे के निर्माण अनिवार्य रूप से 1643 में पूरा कर लिया गया था, और अन्य परियोजना को पूरा करने में करीब 10 साल और लगे और यहाँ 1653 को पूर्ण रूप से तैयार हो पाया था| ताजमहल परिसर में लागत उस समय लगभग 32 लाख रुपये का अनुमान लगाया गया है, जो की 2017 में लगभग 52.8 अरब रुपये (827 मिलियन $ USD) है | निर्माण परियोजना आर्किटेक्ट सम्राट उस्ताद अहमद लाहौरी वास्तुकार के नेतृत्व में एक बोर्ड के मार्गदर्शन में कुछ 20,000 कारीगरों के द्वारा किया गया था |

ताज महल का इतिहास हिन्दी में

ताज महल को सन 1983 में यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर में सम्मिलित कजिया गया था | ताज महल को न केवल भारत में बल्कि पूरे विश्व भर में “मुग़ल इतिहास का सबसे सर्वश्रेष्ठ व नायाब हीरा माना जाता है “| यह  ताज महल की खूबसूरती व विशालता का ही असर है की हर साल लाखों लोग Taj Mahal Tour के लिए आगरा आते हैं | वर्ष 2007 में ताज महल को विश्व के 7 अजूबो में से नंबर 1 यानी की प्रथम स्थान दिया गया है जो की ताज की खूबसूरती को दर्शाता है |

आज यह दुनिया में सबसे प्रसिद्ध और पहचानने इमारतों में से एक है और इसमें बड़ा, गुंबददार संगमरमर समाधि स्मारक के सबसे परिचित हिस्सा है | ताजमहल की इमारत और बगीचे तकरीबन 22.44 हेक्टेयर (55.5 एकड़) में फैली हुई है | ताजमहल का निर्माण 1632 ईस्वी, (1041 एएच) में शुरू हुआ, आगरा में यमुना नदी के दक्षिणी तट पर, और काफी हद तक 1648 (1058 एएच) द्वारा पूरा किया गया। माना जाता है की शाहजहां ने कल्पना की कि मुमताज़ महल का स्वर्ग में निवास इसी प्रकार का होगा जिस पर उन्होंने ताज महल बनवाया|

ताज महल का इतिहास हिन्दी में

ताज महल परिसर में लाल बलुआ पत्थर का मुख्या प्रवेश द्वार है और एक स्क्वायर गार्डन में पानी की लंबी पूल द्वारा तिमाहियों में बांटा गया है, साथ ही एक लाल बलुआ पत्थर से बना मस्जिद, उसी मस्जिद के सामने एक जवाब बना है जो कि बिलकुल उसी की तरह दिखता है | Wayne E. Begley ने 1979 में बताया है की ताज महल में मौजूद “स्वर्ग के बगीचे” के साथ भगवान् का सिहांसन भी है |

  • परिसर में मौजूद अवयव
  • ताज महल का मुख्य आकर्षण है उसका गुम्बद जो की संगमरमर के पत्थर से बना है और जिसके चारो और खड़े हैं मीनार जो की इसकी रक्षा करती हैं | ताज में मौजूद अवयव इस प्रकार हैं:
  • गगनचुम्भी ऊंचाई
  • गुम्बद
  • चार विशाल मीनारें
  • ताज का निचला सदन
  • ताज का मुख्य सदन
  • तहखाना
  • जवाब व मस्जिद
  • चारबाग़
  • दरवाज़ा-ए- रौज़ा
  • जिलौखाना

Leave a Comment

Your email address will not be published. All fields are required.